04/21/2024 1:31 PM

जालंधर में निर्धारित लक्ष्य के करीब धान की खरीद, 10 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा की हुई खरीद 

जिले की मंडियों से अब तक हुई 1025290 मीट्रिक टन धान की खरीद

मंडियों में पहुँचे धान में 99.20 प्रतिशत की हुई सरकारी खरीद. किसानों को 2000 करोड़ रुपये से अधिक की हुई अदायगी

जालंधर, 14 नवंबर जिला प्रशासन के प्रयासों से जिले में धान की खरीद 10 लाख मीट्रिक टन के आंकड़े को पार करते हुए निर्धारित लक्ष्य के करीब पहुंच गई है। इस बारे में बताते हुए डिप्टी कमिश्नर विशेष सारंगल ने बताया कि मौजूदा मंडीकरण सीजन दौरान जिले में 10.58 लाख मीट्रिक टन धान की सरकारी तौर पर खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है और 13 नवंबर तक विभिन्न खरीद एजेंसियों द्वारा 1025290 मीट्रिक टन धान की खरीद हो चुकी है।उन्होंने बताया कि सोमवार तक जिले की मंडियों में कुल 1033958 मीट्रिक टन फसल की आमद हुई है, जिसमें पनग्रेन द्वारा 383743 मीट्रिक टन, मार्कफेड द्वारा 283105 मीट्रिक टन, पनसप द्वारा 258839 मीट्रिक टन, पंजाब स्टेट वेयरहाउस द्वारा 97337 मीट्रिक टन और प्राईवेट व्यापारियों द्वारा 2266 मीट्रिक टन धान खरीदा जा चुका है।

उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा किए प्रबंधों के चलते जिले में खरीद प्रक्रिया उचित ढंग से संचालित हो रही है। जिसमें फसल की मौके पर खरीद के साथ 72 घंटे के निर्धारित समय में भुगतान सुनिश्चित किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि अब तक 91 फीसदी फसल की लिफ्टिंग तय समय सीमा में की गई है और खरीदी गई फसल के लिए किसानों को 2083 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है।किसानों द्वारा मंडियों में लाई फसल का धाना-धाना खरीदने की पंजाब सरकार की वचनबद्धता को दोहराते हुए श्री सारंगल ने कहा कि किसानों को फसल बेचने में किसी परेशानी का सामना नहीं करना पडेगा।डिप्टी कमिश्नर ने किसानों से अपील करते हुए कहा कि सरकार द्वारा निर्धारित नमी सीमा के अनुसार सूखा धान ही मंडियों में लेकर आए ताकि उनकी फसल बिना किसी देरी के खरीदी जा सके।