04/17/2024 2:54 AM

संत सीचेवाल का मनीला दौरे से पंजाब लौटने पर जोरदार स्वागत

पर्यावरणविद और राज्यसभा सदस्य संत बलबीर सिंह सीचेवाल का घर लौटने पर निर्मल कुटिया सीचेवाल और सुल्तानपुर लोधी में जोरदार स्वागत किया गया। फिलीपींस की अठारह दिवसीय यात्रा के बाद लौटने पर भक्तों ने फूलों की वर्षा करके संत सीचेवाल जी का स्वागत किया। विदेश यात्रा से लौटे संत सीचेवाल ने कहा कि वह पिछले कई वर्षों से फिलीपींस में रहने वाले प्रवासी पंजाबियों के निमंत्रण पर हर साल वहां जाते हैं। वर्ष 2009 से आप्रवासी भारतीयों का वहां के लोगों के साथ आपसी भाईचारक सांझ बढ़ाने के लिए समाज सेवा के कार्य किए जा रहे हैं। वहां के गुरु घरों में श्रद्धालुओं द्वारा आयोजित धार्मिक कार्यक्र मों में संत सीचेवाल ने अपने संबोधन के दौरान श्रद्धालुओं से गुरबाणी से जुड़ने और पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को समझने की अपील की। 27 फरवरी को एकओंकार भारतीय निर्मल टेम्पल की प्रबंधन समिति के सहयोग से संगत ने वॉलीबॉल खेल का आयोजन किया।

इन प्रतियोगिताओं में लगभग 12 टीमों ने भाग लिया। फिलीपींस के पनकी शहर में आयोजित इस वॉलीबॉल टूर्नामैंट में राज्यसभा सदस्य संत बलबीर सिंह सीचेवाल ने मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की। इस टूर्नामैंट में फिलीपींस के विभिन्न शहरों की प्रमुख हस्तियों ने भी भाग लिया। इस मौके पर विजेता खिलाड़ियों को सम्मानित करते हुए पर्यावरणविद् संत बलबीर सिंह सीचेवाल ने कहा कि ऐसे आयोजनों से प्रवासी पंजाबियों और फिलीपींस के स्थानीय लोगों के बीच मेलजोल बढ़ा है। निर्मल सिख टेम्पल पनकी के सेवादारों ने बताया कि संत बलबीर सिंह सीचेवाल जी की प्रेरणा से मनीला में रहने वाले पंजाबियों द्वारा हर साल रक्तदान शिविर और चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जाता है। बाढ़ के दौरान जरूरतमंदों को सहायता और कोरोना महामारी के दौरान जरूरतमंद परिवारों को राशन वितरित किया गया। इन परोपकारी गतिविधियों के कारण मनीला निवासियों में सिख धर्म के प्रति आस्था बढ़ रही है।

सेवा के कार्यों से स्थानीय लोगों से मेलजोल बढ़ने से वहां होने वाले अपराधों में भारी कमी आई। मनीला में संत सीचेवाल जी द्वारा स्थापित धार्मिक स्थल जरूरतमंद लोगों को हर तरह की मदद मुहैया करा रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय राजदूत संत सीचेवाल द्वारा उठाए गए मुद्दों से प्रवासी पंजाबियों की कई समस्याएं हल हो गई हैं।