04/21/2024 1:32 PM

सत्य बोलने और हमेशा सत्य आचरण करते रहने से व्यक्ति का आत्मबल बढ़ता है : विधायक रमन अरोड़ा

विधायक रमन अरोड़ा ने शहर के विभिन्न धार्मिक स्थानों व लंगरो पर की शिरकत….

कहा : जब व्यक्ति सत्य की राह से दूर रहता है, तो वह अपने जीवन में संकट खड़े कर लेता है…

जालंधर (EN) शास्त्रों में आत्मा, परमात्मा, प्रेम और धर्म को सत्य माना गया है। सत्य से बढ़कर कुछ भी नहीं। सत्य के साथ रहने से मन हल्का और प्रसन्न चित्त रहता है। यह उक्त विचार विधायक रमन अरोड़ा ने शहर के विभिन्न धार्मिक स्थानों लंगरों पर विशेष तौर पर पहुंचकर आए हुए श्रद्धालुओं से कहे। इस मौके पर विधायक रमन अरोड़ा के साथ आप नेता राज कुमार मदान, आप वॉलिंटियर व इलाका इंचार्ज मनमोहन सिंह (राजू), हैप्पी बडिंग भी मौजूद रहे। जिसमें विधायक रमन अरोड़ा ने गोपाल नगर में चाँद एंड पार्टी की और से करवाए शिव विवाह पर, बशीरपुरा के भरत नगर में आप वॉलिंटियर मनमोहन सिंह (राजू) के दफ्तर के बाहर लगाए लंगर पर, बस्ती गुजा के मैन बाजार के शम्भू मन्दिर में करवाए राम कथा पर इत्यादि विशेष तौर पर शिरकत की। विधायक रमन अरोड़ा ने शहर के विभिन्न धार्मिक स्थानों व लंगरों पर विशेष तौर पर शिरकत कर आए हुए श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सत्य को जानना कठिन है। ईश्वर ही सत्य है। सत्य बोलना भी सत्य है। सत्य बातों का समर्थन करना भी सत्य है। सत्य समझना, सुनना और सत्य आचरण करना कठिन जरूर है लेकिन अभ्यास से यह सरल हो जाता है। जो भी दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा कि सत्य बोलने और हमेशा सत्य आचरण करते रहने से व्यक्ति का आत्मबल बढ़ता है। जब व्यक्ति सत्य की राह से दूर रहता है तो वह अपने जीवन में संकट खड़े कर लेता है उन्होंने कहा कि मन के हल्का और प्रसंन्न चित्त रहने से शरीर स्वस्थ और निरोगी रहता है। सत्य की उपयोगिता और क्षमता को बहुत कम ही लोग समझ पाते हैं। सत्य बोलने से व्यक्ति को सद्गति मिलती है। गति का अर्थ सभी जानते हैं।