Ekam News

Right views of the world

उत्तर प्रदेश जिला पंचायत के चुनाव में योगी का बजा डंका, विपक्ष की जली लंका

उत्तर प्रदेश राज्य के जिला पंचायत के चुनाव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आँधी में विपक्ष बुरी तरह बह गया। भाजपा ने राज्य के ७५ जनपदों में से ६७ जनपदों में अध्यक्ष पद पर सफलता हासिल की।

अखिलेश यादव का वंशागत दल समाजवादी पार्टी को मात्र ६ जनपदों में सफलता हासिल हुई। मुलायम सिंह यादव के गढ़ कहे जानेवाले मैनपुरी में भी भाजपा ने जीतका परचम लहरा दिया।मैनपुरी मे ३० साल बाद सपा प्रत्याशीकी हार हुई। १९९१ से लगातार मैनपुरी से सपा का उम्मीदवार जिला पंचायत अध्यक्ष बनता रहा।लेकिन इस बार इस सीट पर भाजपा ने विजय प्राप्तकी।मैनपुरी में भाजपा प्रत्याशी अर्चना भदौरिया ने जीत दर्ज की। सपा प्रत्याशी मनोज यादव को हार का सामना करना पड़ा।

कांग्रेस अध्यक्ष अँटनीयो माइनो(सोनिया गाँधी) के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में भी भाजपा ने जीत हासिल की। यहाँ कांग्रेस बुरी तरह हार गई। ऐसा माना जाता है वर्तमान स्तिथि को देखते हुए २०२४ के लोकसभा चुनाव में सोनिया गाँधी स्वास्थ्य कारणों का बहाना करके राजनीति से सन्यास ले ले।

तथाकथित आंदोलनजीवी राकेश सिंह टिकैत के गृहनगर मुज्जफरनगर में भी भाजपा ने सफलता हासिल की। यहाँ राकेश टिकैत के संगठन अखिल भारतीय किसान यूनियन के उम्मीदवार को मात्र ४ मत मिले।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की युगलबंदी अभेद्य दुर्ग पर भी विजय प्राप्त कर रही है।