06/13/2024 2:45 AM

जालंधर: एनआरआई के प्लाट से मिला अधजला प्रवासी युवक का शव

शिवनगर से नाखां वाला बाग में स्थित एक एनआरआई के प्लाट से प्रवासी मजदूर का अधजली हालत में शव बरामद हुआ है। सूचना मिलते ही मौके पर थाना बस्ती बावा खेल तथा थाना एक की पुलिस पहुंची और हदबंदी को लेकर आपस में काफी देर तक उलझी रही। हालांकि बाद में थाना एक की पुलिस ने अज्ञात हत्यारे के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए शव को पहचान हेतु सिविल अस्पताल में 72 घंटे के लिए रखवा दिया है।

थाना एक के प्रभारी इंस्पैक्टर सुखबीर सिंह ने बताया कि सुबह उनके पास सूचना आई थी कि नाखां वाला बाग में स्थित एक एनआरआई के खाली प्लाट में कूड़े के ढेर के पास एक युवक का अधजली हालत में शव पड़ा हुआ है। इतना ही नहीं शव के सिर और गर्दन पर चोट के गहरे घाव हैं। इसके बाद सूचना मिलते ही वह मौके पर पहुंचे और जांच के लिए फॉरैंसिक टीम को भी बुलवाया। थाना प्रभारी की मानें तो शव का पंचनामा कर जांच की जा रही है। उनके अनुसार फिलहाल प्राथमिक जांच में यह संभावना व्यक्त की जा रही है कि प्रवासी व्यक्ति का कत्ल किसी और स्थान पर किया गया और बाद में उसका शव यहां लाकर जलाया गया है।

इसके अलावा शव के आसपास जांच की गई तो पुलिस को एक पर्स बरामद हुआ जिसमें से दो एटीएम तथा अन्य दस्तावेज बरामद हुए। ऐसे में पुलिस ने एटीएम कार्ड की डिटेल निकलवाई तो वह लांबड़ा निवासी बैंक मैनेजर के निकले। इसी दौरान पुलिस ने जांच के लिए बैंक मैनेजर को थाना तलब किया तो उन्होंने बताया कि वह संडे मार्कीट में गए थे, वहां उनका पर्स चोरी हो गया था, हालांकि पर्स में कुछ पैसे भी थे। इसके बावजूद उन्होंने कंपलेंट नहीं लिखवाई थी। उन्होंने बताया कि एटीएम कार्ड उन्होंने ब्लॉक करवा दिए थे। वहीं थाना प्रभारी सुखबीर सिंह ने संभावना व्यक्त की है कि प्रवासी युवक पेशेवर चोर हो सकता है। ऐसे में चोरी के पैसे को बांटने को लेकर संभवत: चोरों के बीच कोई विवाद हो गया हो सकता है और उसी के चलते उसकी हत्या कर उसके साथियों ने शव यहां पर लाकर जला दिया हो।

पुलिस टीम ने जांच शुरू करते हुए मौका-ए-वारदात से लेकर अंदर बाहर आने-जाने वाले सभी रास्तों के इर्द-गिर्द लगे सीसीटीवी खंगालने शुरू कर दिए हैं। पुलिस ने मौके से लकड़ी के दो डंडे भी बरामद किए हैं जिन पर खून लगा हुआ है। थाना प्रभारी के अनुसार उनके सामने सबसे बड़ा चैलेंज है शव की पहचान करवाना। उन्होंने कहा कि शव की पहचान होने के बाद मामला ट्रेस करने में पुलिस को जरा सी भी देर न लगेगी और जल्द ही हत्यारों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा।

Related Posts