03/01/2024 6:24 AM

किसानों ने धरना किया खत्म, शुगर मिल फिर हुई शुरू

चंडीगढ़ : कृषि मंत्री गुरमीत सिंह खुड्डियां ने कहा कि गोल्डन संधार मिल्स लिमिटेड, फगवाड़ा के खिलाफ दोआबा क्षेत्र के गन्ना किसानों का लगभग 41 करोड़ रुपये का बकाया 31 मार्च, 2024 तक चुका दिया जाएगा।

कृषि मंत्री विशेष मुख्य सचिव कृषि केएपी सिन्हा के साथ यहां पंजाब सिविल सचिवालय-1 में बीकेयू (दोआबा) के अध्यक्ष मंजीत सिंह राय और बीकेयू (लाखोवाल) के अध्यक्ष हरिंदर सिंह के नेतृत्व में गन्ना किसानों के साथ एक मैराथन बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) इंटेलिजेंस जसकरण सिंह भी शामिल हुए।

गुरमीत सिंह खुड्डियां ने डिप्टी कमिश्नर कपूरथला करनैल सिंह को निर्देश दिया कि वर्तमान मिल मालिक द्वारा किसानों को 9.72 करोड़ रुपये का भुगतान सुनिश्चित किया जाए और इस वर्ष गन्ना पेराई सीजन शुरू होने से पहले लगभग 2 करोड़ रुपये की पहली किस्त का भुगतान किया जाए। उन्होंने डीसी से 31 मार्च, 2024 तक गन्ना किसानों को बकाया राशि का भुगतान करने के लिए गोल्डन संधार मिल के डिफॉल्टर मालिकों से संबंधित संपत्तियों को कुर्क करने की प्रक्रिया में तेजी लाने को भी कहा।

उन्होंने संबंधित अधिकारियों से मिल को तुरंत खोलने के लिए कहा, जिसे विरोध के बाद कुछ दिनों से सील कर दिया गया है, ताकि इस साल के पेराई सत्र की शुरुआत से पहले इसे चालू करने के लिए आवश्यक मरम्मत सुनिश्चित की जा सके। राज्य के किसानों के हितों की रक्षा के लिए मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि किसी को भी किसानों का शोषण करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।