04/17/2024 2:22 AM

हिंदू पंचांग को वैदिक पंचांग के नाम से जाना जाता है। पंचांग के माध्यम से समय और काल की सटीक गणना की जाती है। पंचांग मुख्य रूप से पांच अंगों से मिलकर बना होता है। ये पांच अंग तिथि, नक्षत्र, वार, योग और करण है। यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, राहुकाल, सूर्योदय और सूर्यास्त का समय, तिथि, करण, नक्षत्र, सूर्य और चंद्र ग्रह की स्थिति, हिंदूमास और पक्ष आदि की जानकारी देते हैं।

 

तिथि एकादशी 30:30 तक
नक्षत्र हस्त 08:47 तक
प्रथम करण
द्वितिय करण
बावा
बालवा
17:49 तक
30:30 तक
पक्ष कृष्ण
वार शुक्रवार
योग सौभाग्य 23:58 तक
सूर्योदय 07:05
सूर्यास्त 17:19
चंद्रमा कन्या
राहुकाल 10:55 − 12:12
विक्रमी संवत् 2080
शक सम्वत 1944
मास मार्गशीर्ष
शुभ मुहूर्त अभिजीत 11:52 − 12:33