07/21/2024 3:46 PM

राहुल बोले कांग्रेस सरकार आते ही रद्द होगी अग्निवीर योजना

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगामी लोकसभा चुनाव को देश की जनता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चुनिंदा अरबपति मित्रों के बीच बताते हुए दावा किया है कि केन्द्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर सेना में भर्ती के लिए लागू अग्निवीर योजना को रद्द कर सेना में पुरानी भर्ती प्रणाली को बहाल किया जाएगा।

राहुल गांधी बीकानेर और श्रीगंगानगर से लोकसभा चुनाव में पार्टी उम्मीदवारों के समर्थन में बीकानेर जिले के अनूपगढ़ में आयोजित जनसभा में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि पार्टी घोषणा पत्र में दिए गए वादों का गिनाते हुए कहा कि केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर हर गरीब परिवार की एक महिला को सालाना एक लाख रूपये की मदद दी जाएगी जो परिवार के गरीबी रेखा से बाहर निकलने तक जारी रहेगी। इस कदम से हिंदुस्तान में गरीबी खत्म हो जाएगी।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में युवाओं से केंद्र में ख़ाली पड़े 30 लाख सरकारी पद भरने, ट्रेनिंग के लिए अप्रेंटिसशिप कानून लागू करने और ठेका प्रथा को खत्म कर सरकार में पेंशन वाली पक्की नौकरी जैसे वादे किए है। उन्होंने किसानों के लिए एमएसपी कानून लागू करने और कर्ज माफी का भी वादा किया।

राहुल गाधी ने कहा कि केंद्र में कांग्रेस सरकार आने पर जातिगत जनगणना और आर्थिक सर्वे कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान में पिछड़े वर्ग की 50 प्रतिशत, दलित वर्ग की 15 प्रतिशत, आदिवासी वर्ग की आठ प्रतिशत, अल्पसंख्यकों की 15 प्रतिशत और सामान्य वर्ग के गरीबों की पांच प्रतिशत आबादी है। मगर इस 90 प्रतिशत से ज़्यादा आबादी की कहीं भागीदारी नहीं है।

उन्होंने कहा कि आज मोदी सरकार के शासन में 22 लोगों के पास उतना ही धन है, जितना देश के 70 करोड़ लोगों के पास है। मोदी ने 15-20 सबसे अमीर लोगों का 16 लाख करोड़ रूपये का कर्ज माफ किया लेकिन किसानों और गरीबों को कोई राहत नहीं दी। मोदी ने जितना पैसा अरबपतियों को दिया, उतना ही पैसा कांग्रेस हिंदुस्तान के करोड़ों लोगों को देगी

उन्होंने बेरोजगारी और महंगाई को देश के सबसे बड़े मुद्दे बताते हुए कहा कि इन असल मुद्दों पर मीडिया नहीं बोलता है। उन्होंने कहा कि श्री मोदी ने वादा किया था कि हर वर्ष दो करोड़ रोजगार दिए जाएंगे। देशवासियों को 15-15 लाख रूपये दिए जाएंगे लेकिन ये वादे पूरे नहीं किए गए जबकि नोटबंदी और जीएसटी लागू कर दी गई और 15 लाख रुपये से ज्यादा जनता की जेब से निकाल लिए गए। उन्होंने किसानों के मुद्दों का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा किसानों को आतंकवादी कहती है। मोदी ने किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य देने से इनकार कर दिया। आजादी के बाद आज किसान पहली बार टैक्स दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इस बार लोकसभा चुनाव लोकतंत्र और संविधान को बचाने का है। लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के बैंक खाते बंद कर दिए गए। चुनावी बांड योजना से भाजपा ने दबाव डालकर, वसूली कर हिंदुस्तान के बड़े-बड़े उद्योगपतियों से पैसा लिया। उन्होंने यह चुनाव देश की जनता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनिंदा अरबपति मित्रों के बीच बताते हुए जनता से कांग्रेस उम्मीदवारों को भारी मतों से जिताने का आह्वान किया।