03/01/2024 7:25 AM

जालंधर में 316 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी: DC Vishesh Sarangal

जालंधर : पंजाब सरकार द्वारा उद्योगों के लिए उपलब्ध करवाए जा रहे बढिया माहौल, अच्छा बुनियादी ढांचा, पारदर्शी प्रशासन, तुरंत मंजूरी और सरकार की उद्योग पक्षीय नीतियों से जालंधर में पिछले 4 महीनों दौरान 316 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी दी गई है। 23 मई 2023 से 30 सितंबर 2023 तक 316.12 करोड़ निवेश प्रस्ताव को बढावा दिया गया है।

डिप्टी कमिश्नर विशेष सारंगल, जो जिला ब्यूरो आफ इंडस्ट्री और इनवैस्टमैंट प्रमोशन (डीबीआईआईपी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी भी हैं, ने कहा कि 70 प्रोजैक्ट जिनमें रियल एस्टेट, स्वास्थ्य,फूड, मिनरल वाटर, हैंड टूलस, रबड, हार्डवेयर, ऑटो पार्ट्स ,टायर और मिलिंग उद्योग शामिल है को मंजूरी दी गई है। इस संबंध में अधिक जानकारी देते हुए मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि जालंधर नए उद्योगों के लिए सबसे पसंदीदा स्थान बनकर सामने आया है और यह औद्योगिक इकाइयां हजारों युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर पैदा करेंगी।

उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की आसान ढंग से व्यापार करने की वचनबद्धता, पारदर्शी और जिम्मेदार प्रशासन, अच्छे बुनियादी ढांचे और त्वरित मंजूरी के कारण उद्योगों के लिए एक सक्षम और उपयुक्त वातावरण तैयार हुआ है। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों जैसे उद्योग और व्यपार, आवास निर्माण और शहरी विकास, स्थानीय सरकार, श्रम, कारखाने, पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, पंजाब राज्य बिजली निगम लिमिटेड, वन, लोक निर्माण, टेक्टेशन, पंजाब लघु उद्योग निर्यात निगम ते अधिकारियों द्वारा इन्वेस्ट पंजाब बिजनेस फर्स्ट पोर्टल के माध्यम से औद्योगिक इकाइयों को समय पर ऑनलाइन मंजूरी/अनुमोदन/एनओसी जारी करने के लिए हर सप्ताह जिला प्रशासकीय परिसर में बैठक आयोजित की जाती है।

उन्होंने कहा कि संबंधित नोडल अधिकारी द्वारा रैगुलेटरी क्लीयरैंस पर पूरा ध्यान देने के साथ ही सरकार-उद्योगों की फीडबैक भी नियमित आधार पर सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने कहा कि 14 सितंबर को पंजाब सरकार ने सरकार-सनतकार मिलनी का आयोजन किया था जिसमें दोआबा क्षेत्र के प्रमुख औद्योगिक घरानों ने भाग लिया था और उद्योगों के लिए उपयुक्त माहौल बनाने के लिए सरकार की काफी प्रशंसा भी की थी।

सारंगल ने कहा कि जिला प्रशासन निवेशकों को अपनी औद्योगिक इकाइयां स्थापित करने के लिए हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि उद्योगपतियों को हर सुविधा प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे है और उनकी मदद के लिए पर्याप्त रूपरेखा पहले ही तैयार की जा चुकी है जिसके अधीन नई इकाइयों की स्थापना के लिए तत्काल मंजूरी दी जा रही है ताकि वह जल्द से जल्द अपना स्वंय का उद्योग शुरू कर सके। उन्होंने औद्योगिक घरानों को जिले में और अधिक निवेश करने का न्योता दिया क्योंकि जिला प्रशासन ने जिले में औद्योगिक समर्थकीय माहौल बनाया है। उन्होंने कहा कि उनके निवेश से जालंधर न केवल प्रगति की नई ऊंचाइयों को छुएगा बल्कि रोजगार के नए रास्ते भी खुलेगें।